Corona fight covid 19 in India

Covid 19 corona fight in India


आप सभी से विनम्र निवेदन है कि

2  सभी से निवेदन है मास्क के लिए रुमाल या कपड़े के मास्क का उपयोग करे
3 सेनेटाईज़र के लिए साबुन से हाथ धोए
4 बाज़ार में सामान ख़रीदने के वक़्त 1 मीटर की दूरी बनाये
5  बाज़ार में यदि ज़रूरत है तभी आयें
6  किसी भी ख़बर का सम्पूर्ण जानकारी के उपरान्त लिखे
7  किसी  भी जगह एकत्रित न हो अगर खाँसते छींकते वक़्त रुमाल तौलिया या फिर अपनी कोहनी का उपयोग करे
8 एक डायरी में दैनिक जीवन की दिनचर्या लिखे कि में आज किस किस व्यक्ति से मिला
9 अगर आपको सर्दी खाँसी ज़ुकाम साँस लेने में तकलीफ़ हो तो तुरन्त चिकित्सक से सम्पर्क करे
10  गर्म पानी का सेवन करे एवं भीड़ भाड़ से बचे
11 स्वास्थ्य रहे ये छोटी छोटी युक्ति से हम कोरोना को हरा कर अपने आप को घर वालों को सुरक्षित रख सकते है
*Thanks for this information...*

*बीमारी पहचानिये*

(1) ◇  सूखी खाँसी + छींक  =  *वायु-प्रदूषण*

(2) ○  खाँसी  + बलगम + छींक + बहती नाक  = *साधारण ज़ुकाम*

(3) ●  खाँसी  + बलगम + छींक  + बहती नाक  + शरीर दर्द  + कमजोरी  +  हलका बुखार  = *फ्लयू*

 (4) ■  सूखी खाँसी  + छींक  +  शरीर दर्द +  कमजोरी  +  तेज़ बुखार  + साँस लेने में तकलीफ  =  *कोरोनावायरस* हो सकता है,,,,,,, तुरंत डॉक्टर की सलाह ले
               
                पैथोलॉजी विभाग
                   AIIMS, दिल्ली

All the Collectors and officers of the District administration are working very hard
I must compliment each of you and request you to look into following issues
1- Status of survey of destitutes to be conducted by the Collectors.
2- Check availability of wheat in districts.
3- Has supply chain of essential items being ensured.
4- Has mid day meal wheat being utilized for distribution.
5- Are pregnant women getting access to health facilities and transport.
6- Status of issues of sanctions under MLALAD for Covid Relief
7- Status of availability of Mask and sanitizers for public.
8- Check Status of payements to street vendors of 1000 Rs grant
9- Functioning of upbhokta bhandar for mobile delivery of services
10- Ensure factory owner can go to their factory to make payment to the labour.
11- Are Palanhar payment being ensured
12- Ensure adequate availability of fodder.
13- Movement of goods do not requires pass/permission.

Act to implementation corona fight against corona
Following are the IPC Sections that an individual can be booked under, who  do not comply with the law / regulatory orders related to curb COVID-19 (nCOV19)

*1. Sec 188 IPC:* Violation of order promulgated by the Government.
Cognizable, Bailable.

*2. Sec.269 IPC*
Negligently doing any act known to be likely to spread infection of any disease dangerous to life.
Imprisonment for 6 months or fine, or both.
Cognizable, Bailable.

*3. Sec 270 IPC*
Malignantly doing any act known to be likely to spread infection of any disease dangerous to life.
Imprisonment for 2 years, or fine, or both.
Cognizable, Bailable.

*4. Sec.271 IPC*
Knowingly disobeying any quarantine rule.
Imprisonment for 6 months, or fine, or both.
Non-cognizable.


"सेनेटाइजर"की विधि
तो विधि इस प्रकार है.....
1 लीटर स्प्रिट (कीमत 110 रुपए)
200 ml ग्लिसरीन (60 रुपए)
एक ढक्कन डिटोल का....
महक चाहिए तो आपका पसंदीदा कोई भी इत्र चल जाएगा....
पहले  स्प्रिट व ग्लिसरीन को मिलाइये....
फिर डिटोल मिला दीजिए...
फिर यदि महक चाहिए तो इत्र मिला दीजिए
आपका सेनिटाइजर तैयार हो जाएगा...
मात्र 200 रुपए के आस-पास आपका 1200 ml सेनिटाइजर तैयार हो जाएगा....
जबकि बाजार में 100 ml का  सेनिटाइजर 100 से 150 रुपए तक मे बिक रहा है.....

✔️हम लोग  "फिटकरी"से सेनेटाइजर बना सकते है...
1 लीटर पानी मे 100ग्राम "फिटकरी" डाल 1 ढक्कन "डिटोल", कपूर भी मिला दे
गाड़ा करने के लिए "ग्लिसरीन"या "एलुविरा" मिलाकर भी "सेनिटाइजर"बना सकते है.....
घर पर तैयार कर कालाबाजारी करने वालो को जवाब दीजिए....


हमारे दैनिक जीवन से जुड़ी कोरोना वायरस से कुछ महत्वपूर्ण सावधानियां:

1. दूध की थैली धो लें जिस क्षण हम इसे लेते हैं और जब आप इसको काम मे लेते हैं तो अपने हाथ धोवें।

2. समाचार पत्रों को रद्द करने पर विचार करें।

3. कोरियर के लिए एक अलग ट्रे रखें। कूरियर वाला व्यक्ति लिफाफे / pkg को ट्रे में रख सकता है और कूरियर को कम से कम 24 घंटों के लिए अछूता छोड़ देवें, हो सकता है उस पर वायरस हो।

4. नौकरानियों या किसी अन्य को निर्देश दें कि वे मुख्य दरवाजे को न छुएं। घर में प्रवेश करने पर, उसे अन्य चीजों को छूने से पहले तुरंत अच्छी तरह से हाथ धोना पड़ता है। उसके बाद, एक सफाई तरल पदार्थ के साथ कॉलिंग-बेल स्विच पोंछें :)

3. जहां तक ​​संभव हो स्वाइगी, अमेजन आदि से बचें।

4. एक बार घर लाने के बाद सभी फलों और सब्जियों को धो लें।

5. रिमोट, फोन और कीबोर्ड हमारे घर में सबसे अधिक दूषित तत्व हैं। सफाई तरल पदार्थ का उपयोग करके उन्हें दिन में कम से कम एक बार साफ करें।

6. घर या ऑफिस में अक्सर हाथ धोएं। एक बार हर घंटे कम से कम। जेब मे sanitiser रखें।

7. जहां तक ​​संभव हो सार्वजनिक परिवहन से बचें। यहां तक ​​कि ओला और उबेर का उपयोग तब किया जा सकता है जब बिल्कुल ही अपरिहार्य हो।

8. जिम, स्विमिंग पूल और अन्य व्यायाम क्षेत्रों से बचें, जहां सतह संपर्क या वायु-जनित संदूषण अपरिहार्य है।

9. ट्यूशन, डांस / म्यूजिक क्लास आदि को रद्द करें।

10. जब आप ऑफिस से घर लौटते हैं, तो शॉपिंग आदि से अपने कपड़े उतार दीजिये हैं और हाथ-पैर अच्छी तरह धोएं।

11. सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि चेहरे पर कहीं भी हाथ न लगाएं। बच्चों और माता-पिता को सूचित करें।

12. नियमित चलने वाले व्यायाम के लिए वरिष्ठ नागरिकों को जाने से रोकने के लिए कहें।
13 ब्यूटी पार्लर, हेयर कट सैलून, होटल, रेस्टॉरेंट, मॉल आदि में जाने से बचें।
14 आपात स्तिथि के लिए घर मे पर्याप्त मात्रा में राशन सामग्री रखे।
15 शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने वाले सभी खाद्य पदार्थो का सेवन करते रहे। गर्म पानी का अधिक सेवन करे, गले को गीला रखें।।
16 सभी लोग नागरिक कर्तव्यों का निर्वहन करें।।

आओ हम सभी सतर्क रहें क्योंकि हम जल्द ही चरण 3 में प्रवेश करेंगे जो कम्युनिटी में संक्रमण का स्टेज है।

सतर्कता ही बचाव है, जनहित में सभी को शेयर करें, और
कृपया अपने परिवार और बच्चों के साथ सुरक्षित रहें ...

जानिए *आरोग्य सेतु* एप्प क्या हैं...
इसे install करना क्यों आवश्यक हैं...

आपमें से बहुतों ने इनस्टॉल किया...
पर आपको लगा कि बकवास हैं...
इसे आपने uninstall भी कर दिया होगा...

मैंने भी दो तीन बार install किया... फिर हटा दिया...
पर मोदी जी ने फिर से बोला तो सोचना पड़ा...
ये जरूर कोई बहुत बड़ी चीज हैं...

आप भी फिर से आरोग्य सेतु एप को install कीजिए...
मोदी जी ने चार बार आपसे निवेदन किया है...

अब जानिए...

यह एप्प आपसे कुछ पूछता है जैसे कि क्या आपको खांसी हैं...
बुखार हैं...
सांस लेने में परेशानी हैं...

निश्चित है आप लिखेंगे...
नहीं हैं...

उसके बाद आप ग्रीन जोन में दिखते होंगे...
आपको लगता होगा...
इस एप्प में कुछ हैं ही नहीं...
पूरा बकवास हैं...

यह एप्प ब्लू टूथ और लोकेशन को ऑन रखने को कहता हैं...
आप always on रखिये...

जब भी आप किसी भीड़ भाड़ वाली जगह पर जाते हैं...
यह एप्प ब्लू टूथ से आस पास के मोबाइल से संदेश लेता देता रहता हैं...

जब आप किसी के पास खड़े हैं तो आप भी ग्रीन जोन के हैं...
पास खड़ा व्यक्ति भी ग्रीन जोन वाला नार्मल व्यक्ति ही हैं...
पर अगर वह व्यक्ति आज से 10 दिनों बाद किसी कारण से कोरोना पॉजिटिव हो जाएगा...
तो यह एप्प आपको तुरंत alert कर देगा...
और आपका ग्रीन कलर बदल कर ऑरेंज या पीला हो जाएगा।

यह कहेगा...
आप दूध लेने आज से 10 दिन पहले डेयरी पर गए थे...
वह व्यक्ति जो नीले शर्ट वाला था...
वह अब कोरोना पॉजिटिव हैं...
यानी 10 दिन पहले उसे छिपा हुआ संक्रमण था जो अब साफ-साफ दिखने लगा हैं...

अब आप तुरंत अपनी जांच कराइए...
साथ ही यह एप्प उन सभी व्यक्तियों को सूचना दे देगा...
आप सभी लोग उस आदमी के चलते danger zone में आ गए हैं...
तुरंत जांच कराइये।

सबकी लोकेशन ऑन रहने से उन सभी की मूवमेंट भी पता चलेगी...
और कोरोना से लड़ना आसान होगा...

आप इस पोस्ट को व्हाट्सएप्प पर भेजिए...
लोगों को समझाइए...
जिस दिन करोड़ों लोग इसे install कर लेंगे...
यह आपके किसी भी ऑरेंज जोन के व्यक्ति के पास जाते ही रिंग करने लगेगा...
यह आपको हॉट स्पॉट की सूचना अलार्म से दे देगा...
ताकि आप रास्ता बदल लें...

**समझे ओर समझाये.......हमारी सबसे बड़ी जिम्मेदारी है....
**
राजस्थान के भीलवाड़ा में
केरल के कुछ क्षेत्रों में कोरोना तीसरे स्टेज में पहुंच चुका है।



ये स्टेज क्या होती हैं?

पहली स्टेज

विदेश से नवांकुर आया। एयरपोर्ट पर उसको बुखार नहीं था। उसको घर जाने दिया गया। पर उससे एयरपोर्ट पर एक शपथ पत्र भरवाया गया कि वह 14 दिन तक अपने घर में कैद रहेगा। और बुखार आदि आने पर इस नम्बर पर सम्पर्क करेगा।
घर जाकर उसने शपथ पत्र की शर्तों का पालन किया।
वह घर में कैद रहा।
यहां तक कि उसने घर के सदस्यों से भी दूरी बनाए रखी।

नवांकुर की मम्मी ने कहा कि अरे तुझे कुछ नहीं हुआ। अलग थलग मत रह। इतने दिन बाद घर का खाना मिलेगा तुझे, आजा किचिन में... मैं गरम गरम् परोस दूं।

नवांकुर ने मना कर दिया।

अगली सुबह मम्मी ने फिर वही बात कही। इस बार नवांकुर को गुस्सा आ गया। उसने मम्मी को चिल्ला दिया। मम्मी की आंख में आंसू झलक आये। मम्मी बुरा मान गयीं।

नवांकुर ने सबसे अलग थलग रहना चालू रखा।

6-7वें दिन नवांकुर को बुखार सर्दी खांसी जैसे लक्षण आने लगे। नवांकुर ने हेल्पलाइन पर फोन लगाया। कोरोना टेस्ट किया गया। वह पॉजिटिव निकला।
उसके घर वालों का भी टेस्ट किया गया। वह सभी नेगेटिव निकले।
पड़ोस की 1 किमी की परिधि में सबसे पूछताछ की गई। ऐसे सब लोगों का टेस्ट भी किया गया। सबने कहा कि नवांकुर को किसी ने घर से बाहर निकलते नही देखा।
चूंकि उसने अपने आप को अच्छे से आइसोलेट किया था इसीलिए उसने किसी और को कोरोना नहीं फैलाया।
नवांकुर जवान था। कोरोना के लक्षण बहुत मामूली थे। बस बुखार सर्दी खांसी बदन दर्द आदि हुआ। 7 दिन के ट्रीटमेंट के बाद वह बिल्कुल ठीक होकर अस्पताल से छुट्टी पाकर घर आ गया।

जो मम्मी कल बुरा मान गईं थीं, वो आज शुक्र मना रहीं हैं कि घर भर को कोरोना नहीं हुआ।


यह पहली स्टेज जहां सिर्फ विदेश से आये आदमी में कोरोना है। उसने किसी दूसरे को यह नहीं दिया।


स्टेज 2-  राजू में कोरोना पॉजिटिव निकला।
उससे उसकी पिछले दिनों की सारी जानकारी पूछी गई। उस जानकारी से पता चला कि वह विदेश नहीं गया था। पर वह एक ऐसे व्यक्ति के सम्पर्क में आया है जो हाल ही में विदेश होकर आया है। वह परसों गहने खरीदने के लिए एक ज्वेलर्स पर गया था। वहां के सेठजी हाल ही में विदेश घूमकर लौटे थे।


सेठजी विदेश से घूमकर आये थे।उनको एयरपोर्ट पर बुखार नहीं था। इसी कारण उनको घर जाने दिया गया। पर उनसे शपथ पत्र भरवा लिया गया, कि वह अगले 14 दिन एकदम अकेले रहेंगे और घर से बाहर नहीं निकलेंगे। घर वालों से भी दूर रहेंगे।
विदेश से आये इस गंवार सेठ  ने एयरपोर्ट पर भरे गए उस शपथ पत्र की धज्जियां उड़ाईं।
घर में वह सबसे मिला।
शाम को अपनी पसंदीदा सब्जी खाई।
और अगले दिन अपनी ज्वेलेरी दुकान पर जा बैठा। (पागल हो क्या! सीजन का टेम है, लाखों की बिक्री है, ज्वेलर साब अपनी दुकान बंद थोड़े न करेंगे)

6वें दिन ज्वेलर को बुखार आया। उसके घर वालों को भी बुखार आया। घर वालों में बूढ़ी मां भी थी।
सबकी जांच हुई। जांच में सब पॉजिटिव निकले।

यानि विदेश से आया आदमी खुद पॉजिटिव।
फिर उसने घर वालों को भी पॉजिटिव कर दिया।

इसके अलावा वह दुकान में 450 लोगों के सम्पर्क में आया। जैसे नौकर चाकर, ग्राहक आदि।
उनमें से एक ग्राहक राजू था।


सब 450 लोगों का चेकअप हो रहा है। अगर उनमें किसी में पॉजिटिव आया तो भी यह सेकंड स्टेज है।

डर यह है कि इन 450 में से हर आदमी न जाने कहाँ कहाँ गया होगा।


कुल मिलाकर स्टेज 2 यानी कि जिस आदमी में कोरोना पोजिटिव आया है, वह विदेश नहीं गया था। पर वह एक ऐसे व्यक्ति के सम्पर्क में आया है जो हाल ही में विदेश होकर आया है।
*******************************

स्टेज 3

रामसिंग को सर्दी खांसी बुखार की वजह से अस्पताल में भर्ती किया, वहां उसका कोरोना पॉजिटिव आया।
पर रामसिंग न तो कभी विदेश गया था।
न ही वह किसी ऐसे व्यक्ति के सम्पर्क में आया है जो हाल ही में विदेश होकर आया है।

यानि हमें अब वह स्रोत नहीं पता कि रामसिंग को कोरोना आखिर लगा कहाँ से??

स्टेज 1 में आदमी खुद विदेश से आया था।

स्टेज 2 में पता था कि स्रोत सेठजी हैं। हमने सेठजी और उनके सम्पर्क में आये हर आदमी का टेस्ट किया और उनको 14 दिन के लिए अलग थलग कर दिया।


स्टेज 3 में आपको स्रोत ही नहीं पता।

 स्रोत नहीं पता तो हम स्रोत को पकड़ नहीं सकते। उसको अलग थलग नहीं कर सकते।
वह स्रोत न जाने कहाँ होगा और अनजाने में ही कितने सारे लोगों को इन्फेक्ट कर देगा।

*स्टेज 3 बनेगी कैसे?*

सेठजी जिन 450 लोगों के सम्पर्क में आये। जैसे ही सेठजी के पॉजिटिव होने की खबर फैली, तो उनके सभी ग्राहक,नौकर नौकरानी, घर के पड़ोसी, दुकान के पड़ोसी, दूध वाला, बर्तन वाली, चाय वाला....सब अस्पताल को दौड़े।
सब लोग कुल मिलाकर 440 थे।
10 लोग अभी भी नहीं मिले।
पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम उनको ढूंढ रही है।
उन 10 में से अगर कोई किसी मंदिर आदि में घुस गया तब तो यह वायरस खूब फैलेगा।
यही स्टेज 3 है जहां आपको स्रोत नहीं पता।


*स्टेज 3 का उपाय*
14 दिन का lockdown
कर्फ्यू लगा दो।
शहर को 14 दिन एकदम तालाबंदी कर दो।
किसी को बाहर न निकलने दो।

इस तालाबंदी से क्या होगा??

हर आदमी घर में बंद है।
जो आदमी किसी संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में नहीं आया है तो वह सुरक्षित है।
जो अज्ञात स्रोत है, वह भी अपने घर में बंद है। जब वह बीमार पड़ेगा, तो वह अस्पताल में पहुंचेगा। और हमें पता चल जाएगा कि अज्ञात स्रोत यही है।

हो सकता है कि इस अज्ञात श्रोत ने अपने घर के 4 लोग और संक्रमित कर दिए हैं, पर बाकी का पूरा शहर बच गया।

अगर LOCKDOWN न होता। तो वह स्रोत पकड़ में नहीं आता। और वह ऐसे हजारों लोगों में कोरोना फैला देता। फिर यह हजार अज्ञात लोग लाखों में इसको फैला देते। इसीलिए lockdown से पूरा शहर बच गया और अज्ञात स्रोत पकड़ में आ गया।

*क्या करें कि स्टेज 2, स्टेज 3 में न बदले।*
Early lockdown यानी स्टेज 3 आने से पहले ही तालाबन्दी कर दो।
यह lockdown 14 दिन से कम का होगा।

उदाहरण के लिए
सेठजी एयरपोर्ट से निकले
उनने धज्जियां उड़ाईं।
घर भर को कोरोना दे दिया।
सुबह उठकर दुकान खोलने गए।
(गजब आदमी हो यार! सीजन का टेम है, लाखों की बिक्री है, अपनी दुकान बंद कैसें कर लें)

पर चूंकि तालाबंदी है।
तो पुलिस वाले सेठजी की तरफ डंडा लेकर दौड़े।
डंडा देख सेठजी शटर लटकाकर भागे।

अब चूंकि मार्किट बन्द है।
तो 450 ग्राहक भी नहीं आये।
सभी बच गए।
राजू भी बच गया।
बस सेठजी के परिवार को कोरोना हुआ।
6वें 7वें दिन तक कोरोना के लक्षण आ जाते हैं। विदेश से लौटे लोगों में लक्षण आ जाये तो उनको अस्पताल पहुंचा दिया जायेगा। और नहीं आये तो इसका मतलब वो कोरोना नेगेटिव हैं।

[14/04, 11:21] Garg: "सात" बातों में देश का "साथ" मांगा पीएम मोदी ने।


अपने घर के बुजुर्गों का रखे अतिरिक्त ध्यान

लॉकडाउन सोशल डिस्टेंस का पूरा ख्याल रखें।

घर मे रखे मास्क का करे ज्यादा उपयोग

अपनी इम्युनिटी बढ़ाये आयुष मंत्रालय द्वारा जानकारी का इस्तेमाल करे।

आरोग्य एप डाउनलोड करे।

जितना हो सके गरीब परिवार की जरूरत पूरी करे।


अपने व्यवसाय,उधोग से जुड़े छोटे कर्मचारियों के प्रति संवेदना रखें


देश के सभी कोरोना योद्धाओं का सम्मान करें।
[14/04, 11:44] Garg: हम धैर्य बनाकर रखेंगे,
नियमों का पालन करेंगे तो कोरोना जैसी महामारी को भी परास्त कर पाएंगे।

इसी विश्वास के साथ अंत में,

मैं आज 7 बातों में आपका साथ मांग रहा हूं


*पहली बात*-
अपने घर के बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें
- विशेषकर ऐसे व्यक्ति जिन्हें पुरानी बीमारी हो,
उनकी हमें Extra Care करनी है, उन्हें कोरोना से बहुत बचाकर रखना है.

*दूसरी बात*-
लॉकडाउन और Social Distancing की लक्ष्मण रेखा का पूरी तरह पालन करें ,
घर में बने फेसकवर या मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें.

*तीसरी बात*-
अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए, आयुष मंत्रालय द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें,
गर्म पानी,
काढ़ा,
इनका निरंतर सेवन करें.

*चौथी बात* -
कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने में मदद करने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल App जरूर डाउनलोड करें।
दूसरों को भी इस App को डाउनलोड करने के लिए प्रेरित करें.

*पांचवी बात*-
जितना हो सके उतने गरीब परिवार की देखरेख करें,
उनके भोजन की आवश्यकता पूरी करें.

*छठी बात*-
आप अपने व्यवसाय, अपने उद्योग में अपने साथ काम करे लोगों के प्रति संवेदना रखें,
किसी को नौकरी से न निकालें.

*सातवीं बात*-
देश के कोरोना योद्धाओं,
हमारे डॉक्टर- नर्सेस,
सफाई कर्मी-पुलिसकर्मी का पूरा सम्मान करें.

पूरी निष्ठा के साथ 3 मई तक लॉकडाउन के नियमों का पालन करें,
जहां हैं,
वहां रहें,
सुरक्षित रहें।

वयं राष्ट्रे जागृयाम”,
हम सभी राष्ट्र को जीवंत और जागृत बनाए रखेंगे.

*"फर्स्ट इंडिया न्यूज़" की तरफ से अपील*

मित्रों, आज से *कोरोना* वायरस *तीसरी स्टेज* में प्रवेश कर रहा है। यहां से *8 दिन* सब से ज्यादा महत्वपूर्ण होंगे। इन दिनों में हम सबको विशेष ख्याल रखना होगा।

हम सब को सोशल डिस्टेन्सिंग के साथ अब *फिजिकल डिस्टेन्सिंग* की पालना करना होगा। एक दूसरे से उचित दूरी बनाए रखनी है। मास्क और सेनेटाइजर का मुकम्मल इस्तेमाल करना है।

किसी भी हाल में खुद को संक्रमण में नहीं फंसने देना है। बिल्कुल भी लापरवाही नहीं करनी है। अगर आगामी 4 दिन हमने खुद को सुरक्षित रख लिया तो आधी जंग जीत लेंगे।

हमको कोरोना को हराना है। ये जंग जीतना ही है। अपने लिए और अपने घरवालों के लिए। खुद को सुरक्षित रखना है। कोरोना से बचना है।

*सबसे कारगर उपाय*
1. एक दूसरे से कम से कम 4 से 6 फ़ीट की दूरी बनाएं।

2. मास्क और सेनेटाइजर का यूज़ करें।

3. बार बार हांथो को धोएं।

4. दिन भर में कम से कम 5 बार गर्म पानी पिएं।

5. घर पर सुबह शाम नामक वाले पानी से गरारे करें।

6. शरीर को गर्म रखें।

7. फ्रिज के पानी और ठंडी चीज़ों का सेवन भूल कर भी न करें।

8. खुद को सर्दी खांसी से बचाएं।

9. घर पर अदरख, काली मिर्च और लौंग का काढ़ा बनाएं, इसमे एक चम्मच शहद मिला कर चाय की तरह गरमा गरम ही पिएं।

10. घर पर बच्चों और बुजुर्गों का विशेष ख्याल रखें।

सबसे जरूरी है कि *हमें घबराना नहीं है। मनोबल को बढ़ाए रखना है। कही सुनी बातों पर खुद का मूल्यांकन नहीं करना है।*


0 comments: