Jan Aadhaar card yojna-जन आधार कार्ड योजना


Jan Aadhaar Yojna replace Bhamashah yojna Rajasthan


प्रदेश में 1 अप्रेल से लागू होगा नया जन आधार कार्ड, 65 तरह की योजनाओं का मिलेगा लाभ
 मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Ashok Gehlot ) की बजट घोषाण ( Rajasthan Budget 2020-21 ) के अनुरूप प्रदेश में आगामी 1 अप्रेल से जन आधार कार्ड ( Jan Aadhar Card ) लागू हो जाएगा। इस कार्ड से 23 विभागों की 65 तरह की योजनाओं का लाभ आम आदमी को मिलेगा। आयोजना विभाग ने जन आधार कार्ड को लागू करने की तैयारियां युद्ध स्तर पर शुरू कर दी हैं। साथ ही जन आधार कार्ड संबधी समस्याओं के समाधान के लिए गठित जन आधार प्राधिकरण भी जल्द क्रियाशील होगा। आयोजना विभाग के अधिकारियों का कहना है कि ई-जन आधार कार्ड से सभी लाभ लिए जा सकते हैं।
25 लाख परिवारों तक पहुंचा नया जन आधार कार्ड
आयोजना विभाग के अधिकारियों के अनुसार भामाशाह योजना के तहत प्रदेश में पहले से चयनित 1.76 करोड़ परिवारों को नया प्लास्टिक जन आधार कार्ड भेजना शुरू कर दिया है। 24 फरवरी तक 25 लाख चयनित परिवारों को जन आधार कार्ड पहुंचाए जा चुके हैं। कार्ड को संबधित जिला कलक्टर के माध्यम से ब्लॉक स्तर पर भेजा जा रहा है वहां से ई-मित्र के जरिए इनका वितरण हो रहा है।
प्लास्टिक कार्ड नहीं है तो चिंता नहीं
भामाशाह योजना में चयनित सभी परिवारों को प्लास्टिक कार्ड नहीं पहुंचे हैं। लेकिन 27 लाख चयनित परिवार जन आधार पोर्टल से अपना ई-कार्ड ले चुके हैं, वे विभागों की प्रत्यक्ष लाभ की सभी 65 योजनाओं का लाभ ले रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि ई-कार्ड व्यक्ति आसानी से अपने घर बैठे भी प्राप्त कर सकता है।
60 हजार लोगों ने किया जन आधार पोर्टल पर पंजीयन
प्रदेश में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य सरकार की पहली वर्षगांठ पर जन आधार कार्ड लांच किया था। दो माह में ही चयनित परिवारों के अलावा 60 हजार लोग जन आधार पोर्टल पर अपना पंजीयन करा चुके हैं और 4 लाख लोग जन आधार पोर्टल के जरिए 11 अंकों का व्यक्तिगत पहचान नंबर और 10 अंकों का परिवार पहचान नंबर ले चुके हैं।


परिवार के हर सदस्य का होगा अलग जन आधार नंबर, जानि
कैसा होगा आपका ‘जन आधार कार्ड‘
एक अप्रेल से भामाशाह कार्ड ( Bhamashah Card ) जनाधार कार्ड ( Jan Aadhar Card ) से बदल जाएगा, जिसकी आधिकारिक लॉन्चिंग 18 दिसंबर को होगी। इसमें परिवार के यूनीक नंबर के अलावा हर सदस्य का अलग आइडी नंबर होगा...
 एक अप्रेल से भामाशाह कार्ड ( Bhamashah Card ) जनाधार कार्ड ( Jan Aadhar Card ) से बदल जाएगा, जिसकी आधिकारिक लॉन्चिंग 18 दिसंबर को होगी। इसमें परिवार के यूनीक नंबर के अलावा हर सदस्य का अलग आइडी नंबर होगा। भामाशाह में पूरे परिवार का एक ही नंबर होता था। फर्क यह होगा कि पहले 7 अंक और शब्दों के मिलान से नंबर बना था, अब यह सिर्फ अंक आधारित होगा।

बेटी की शादी होने के बाद भी उसकी पहचान उसी नंबर से
हर सदस्य का 11 अंकों का अलग नंबर जारी किया जाएगा। उस सदस्य के लिए जीवनभर यह यूनीक आइडी रहेगी। यानी बेटी की शादी होने के बाद भी उसकी पहचान उसी नंबर से रहेगी। यह नंबर दूसरे परिवार के कार्ड के साथ जुड़ जाएगा। जनाधार कार्ड की 18 दिसंबर को लॉन्चिंग के बाद नया नंबर मिलेगा। यह ई-टीडीएस भरने और स्वास्थ्य बीमा का लाभ लेने के लिए रहेगा।

मोबाइल ऐप भी होगा लॉन्च
जनाधार का मोबाइल ऐप भी लॉन्च होगा। इससे भी नया नंबर पता लगाया जा सकेगा। जनाधार कार्ड में अप्रैल तक 75 योजनाएं जोड़ी जाएंगी। पंचायतों में राजीव केन्द्रों पर ईमित्र और जनाधार योजना की सेवाएं चलाई जाएंगी।

आपको यों मिलेगी सूचना
नंबर बदलने की सूचना एसएमएस से दी जाएगी। व्यक्ति को अपना ई-कार्ड डाउनलोड करना होगा। कार्ड की हार्डकॉपी वितरित करने के लिए वितरण योजना अलग से बनाई जा रही है। कार्ड में परिवार के दो जनों का आधार नंबर देना जरूरी होगा या भामाशाह में पहले से दिए हुए आधार नंबर मान्य होंगे। इसके बाद ये आधार नंबर प्रमाणित किए जाएंगे। केंद्र सरकार की किसी योजना के लिए आधार नंबर जरूरी होगा।

जन आधार कार्ड योजना के लाभ
- राशन कार्ड से मिलने वाली सुविधाओं का लाभ जन आधार कार्ड से मिल सकेंगा ।
-पेंशनकर्मियों को हर साल जीवित प्रमाण पत्र बनवाना पड़ता था अब नहीं योजना के तहत यह प्रमाण पत्र हर साल नहीं बनवाना पड़ेगा।
-परिवार के प्रत्येक सदस्यों का नाम आटो एड हो जाएगा । बार-बार नाम जुड़वाने की जरूरत नहीं होगी।
-जन आधार कार्ड एक परिवार की एक पहचान बनेगा यानि एक कार्ड, एक नम्बर, एक पहचान।
-ई-कॉमर्स और बीमा सुविधाओं का लाभ भी इसी कार्ड से मिले पाएगा।

जन आधार कार्ड की मुख्य बातें
- भामाशाह कार्ड की तरह यह कार्ड भी महिला के नाम से बनेगा ।
-अगर किसी परिवार में महिला नहीं है तो पुरूष के नाम से भी जन आधार कार्ड बनाया जा सकता है ।
-इस कार्ड में परिवार के सभी सदस्यों को जोड़ा जाएगा ।
-जन आधार कार्ड में आपको 10 अंक का पंजीयन नम्बर दिया जायेगा।
जिसका भामाशाह कार्ड पहले से बना हुआ है उसे जन आधार कार्ड बनवाने की जरूरत नहीं है। उस परिवार को मोबाइल नम्बर पर SMS मैसेज या फोन करके 10 अंक का पंजीयन नम्बर भेजा जायेगा।
-जिस परिवार का भामाशाह कार्ड नहीं बना हुआ है उसे ही नया कार्ड जन आधार कार्ड बनवाना होगा।
#जयपुर:सरकार की पहली वर्षगांठ पर लागू होगी सिलिकोसिस नीति

सिलिकोसिस पीड़ितों को 1500 रू प्रतिमाह मिलेगी पेंशन

पीड़ित को पुर्नवास के लिए 3 लाख रु.देगी राज्य सरकार

मृत्यु पर उत्तराधिकारी को दी जाएगी 2 लाख रूपए की राशि


Friends if you like my post comments And share the post to another friend your sharing is my pleasure thanks for Reading

0 comments: