art of life books-law of attraction and super sale

art of life books-law of attraction and super sale




जीवन जीने की कला के सम्बन्ध में उपलब्ध किताबो का यु तो भंडार भरा है परन्तु हम आपको आकर्षण का सिधांत बिषय पर उपलब्ध सामग्री एवं उसकी चाहत के सम्बन्ध में बताने जा रहे है जो भी हमने अपने जीवन में प्रत्यक्ष रूप से जाना और समझा है यहाँ पर जीवन जीने की कला पर उपलब्ध  मह्ताब्पूर्ण पुस्तकों की सूची उपलब्ध कराने से पहले हम आपको लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन के बारे में कुछ रोचक जानकारी देंगे यदि आपने इस लेख को पुरा पढ़कर अपने जीवन में उतारा तो शत  प्रतिशत आप सफल इंसानों की सूचि में सामिल होगे एसा मेरा मानना नहीं है बल्कि दावा है

art of life जीवन जीने की कला क्या है 

इस संसार में जन्म लेने बाला प्रत्येक प्राणी अपना जीवन किसी भी परिस्तिथि में जीता ही है परन्तु मानव उनसे भिन्न है यदि मानव भी उसी सिधांत पर काम करे तो प्रकृति की सर्वोत्तम कृति मानव केसे हो सकता हैवह विधि जिस से  मानव जो अपने जीवन को पूर्ण कुशलता एवं स्व नियंत्रण से जिए उसे जीवन जीने की कला कहा जाता है इस कला में जो जितना निपुण है बही ब्यक्ति इस भूलोक पर दैहिक दैविक भोतिक सुख प्राप्त कर्ता है तथा जो विफल है वो इस कला को नहीं जानता है यही जीवन का सम्पूर्ण सार है इसी में है  इस कला में माहिर लोग सिर्फ एक फीसदी है जो दुनिया की निन्न्यानावे प्रतिशत पूंजी पर काबिज है तथा निन्यानवे प्रतिशत लोग इस कला से अनभिज्ञ है जिनके पास सिर्फ एक फीसदी पूंजी है यह इस कला की ताकत है   
art of life books-law of attraction and super sale
Add caption


law of attraction लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन-आकर्षण का सिध्धांत  क्या है 

जीवन जीने की कला के शिक्षण में एक सिध्धांत का नाम आता है लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन law of attraction एक सिध्धांत नहीं है यह जीवन जीने की कला का सम्पूर्ण सार है या यूं कहिये कि यदि आपने इस सिध्धांत को समजकर जीवन को जिया तो आप शतप्रतिशत दुनिया के सफल इंसानों में गिना जायेगा अब समझाते है कि लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन है क्या जब हम किसी भी चीज object को पूरी सिद्दत से चाहते है तो कायनात हमे उससे मिलाने के लिये लग जाती है मतलब जीबन में हमे बह नहीं मिलता जो चाहिए जीवन में हमे बह मिलता है जो चाहिए ही चाहिए एक बार पुनः जीबन में हमे बह नहीं मिलता जो चाहिए जीवन में हमे बह मिलता है जो चाहिए ही चाहिए अतः हमे जो चाहिए उसे पूर्ण सिद्दत से चाहना होगा आप सोचेंगे चाहने से क्या होगा यहाँ एक बात और स्पष्ट कर दू बही होता है जो आप जीवन में चाहते हो परन्तु चाहने की अपनी बारंबारता हो जेसे एक तपस्वी भगबान को चाहता है जेसे एक प्रेमिका प्रेमी को चाहती है इस प्रकार चाहना होगा एसा नहीं है की आप चाहे और आपको मले ना हाँ यदि आपकी चाहत तकत्बर नहीं है तो समय अधिक लगेगा कमजोर चाहत की चीज हो सकता है कई जन्म बाद मिले क्यूंकि चाहत का भारीपन समय का निर्धारण कर्ता है मतलब भारी चाहत कम समय कम चाहत अधिक समय अब फैसला आपके हाथ में है जो चुनाव करना है कर लीजये यही है law of attraction
art of life books-law of attraction and super sale
Add caption


famous writter art of life books


चंद्रकांता संतति -बाबु देवकी
हैनरी मिलर- आर्ट ऑफ लिविंग
आऊट आफ लाइफ़ एण्ड थोटस --स्वित्जर
मैन सर्च फोर---विक्टर फ्रिन्कल
एन इन्टीमेट हिस्ट्री ऑफ़ ह्यूमनिटी-थियोडोर हैमिल्टन
टाप पांच महत्वपूर्ण पुस्तकों का उल्लेख किया गया है ऐसा आप को किसी भी पुस्तक के अध्ययन के उपरांत यदि परिणाम न मिले तो चोंकना मत परन्तु आप ला आफ अट्रैक्शन पर यदि आप अमल करें तो परिणाम शत प्रतिशत मिलेगा

Implementation of art of life

आप सभी को लेकर एक ही विकल्प है कि वो असल में घटित किस तरह होगा आप अपने जीवन को लेकर शंशय में नहीं रहे जीवन को जीवन की तरह जिएं मानवता के कल्याण के लिए कार्य करें जीवन में वही करो जो आपको अच्छा लगता है क्योंकि जीवन आपका हैं लोगों का नहीं कुछ तो लोग कहेंगे लोगों का काम है कहना लोगों की परवाह किये विना आप अपने जीवन को अपने तरीके से जिएं मानवता ही मानवता को जीत सकती है यहीं हैं जीवन का सार

0 comments: