Avoid using drugs and medicine

 दवाईयों से परहेज करें

आज भागदौड़ भरी जिंदगी में अनियमित दिनचर्या एवं चिकित्सा उद्योग की सफलतम marketing के कारण 💊 अर्थात ड्रग्स लेना जीवन का अंग वन गया है जबकि स्वास्थ्य के लिए दवाईया लेना आवश्यक नहीं है आपको यह जानकर आश्चर्य हो सकता है कि 70 प्रतिशत परिवार अपने जीवनकाल में भोजन से अधिक चिकित्सा पर खर्च कर रहे हैं यह किसी भी रुप में सही नहीं है आजकल चिकित्सा उद्योग का उद्देश्य सेवा नहीं होकर शत प्रतिशत उद्योग रह गया है मुझे लगता है किआज चिकित्सा उद्योग वुलन्दियों पर सिर्फ अपनी काबिलियत के कारण नहीं होकर हमारी नासमझी के कारण है मेरा मानना है कि आप लोग चलकर कभी भी डाक्टर के पास नहीं जाए क्योंकि यह एक वडा माफियाओं का जाल जिसमें आप जा तो सकते हो पर लौटने का रास्ता नहीं के बराबर है चिकित्सा क्षेत्र में 80 प्रतिशत लोग अप्रशिक्षित है 
आपने कभी सोचा है कि जिस ईश्वर ने आपको बनाया है उसने इस शरीर को ऐसी शक्ति क्यों नहीं दी कि वह अपने आप स्वस्थ्य हो सके आप गलत है ईश्वर ने प्रत्येक व्यक्ति को यह शक्ति दी है आप जानते होंगे कि आपका लिवर आपके द्वारा ली जाने वाली ड्रग्स का जमकर मुकाबला करता है और शरीर के अन्दर जाने से रोकने का भरसक प्रयास करता है परन्तु आप स्वयं विना बजह या मामूली तकलीफ के कारण दवा गटक जाते है। आज ऐसा लगता है कि प्रत्येक घर में एक medicine cabinet चल रही है
                                                               

Medicine jaal 

Doctors are second God of the earth चिकित्सक भगवान का दूसरा रूप होता है लेकिन आधे से अधिक चिकित्सकों द्धारा यह जाल बुना गया है समझते हैं कैसे आपको  हल्का सा सरदर्द हुआ आपने ड्रग्स ली कोई भी अब आपको आपका दिमाग सरदर्द के बारे में सूचना देना बंद कर देगा आप समझे सर दर्द ठीक हो गया है परन्तु अब ड्रग्स के साइड इफेक्ट्स को समझें यानि कि आपको इस ड्रग्स के सेवन करने से हार्ट अटैक हो सकता है परन्तु नहीं हुआ न ईश्वर का शुक्र है परन्तु आप अभी भी सुरक्षित नहीं हो आपको पहले दिन किसी दुर्घटना के कारण सरदर्द से पीड़ित थे परन्तु अब ड्रग्स के साइड इफेक्ट्स के कारण अवसाद के कारण सरदर्द से पीड़ित हो फिर आपने ड्रग्स ली फिर साइड इफेक्ट्स के कारण सरदर्द हुआ फिर आपने ड्रग्स ली फिर सरदर्द अब यह नियमित रूप से पीड़ित व्यक्ति हैं आप इस प्रकार चिकित्सा उद्योग के जाल में फंसे हुए हैं
दैनिक रूप से मैं प्रमाण सहित इस बिषय पर समाधान सहित आपको बताता रहुंगा


0 comments: